आखिर क्यों ज्यूरी ने निरस्त किया ‘न्यू कमर अवार्ड’ कैटेगरी: भोजपुरी फिल्म अवार्ड 2016

http://www.bollywoodxp.com/wp-content/uploads/2016/11/Award-PardarshitaMistake-copy-1050x591.jpg

जैसा कि सभी जानते हैं कि फिल्म अवार्ड फंक्शन का एक सबसे बड़ा पहलू होता है ‘न्यू कमर अवार्ड’। यह अवार्ड नये कलाकारों को प्रोत्साहित करने के लिये दिया जाता है। अब आप ही समझिये कि अगर किसी अवार्ड फंक्शन से इस बहूमूल्य कैटेगरी ‘न्यू कमर अवार्ड’ को निकाल दिया जाय तो उस अवार्ड फंक्शन का मूल्य क्या रह जाता है। ठीक ऐसा ही कुछ देखने को मिला एबी मल्टीमीडिया द्वारा आयोजित ‘भोजपुरी फिल्म अवार्ड’ मुम्बई स्थित मलाड में। इस अवार्ड फंक्शन की ये सबसे बड़ी गलती रही कि इसमें से ‘न्यू कमर अवार्ड’ की कैटेगरी को ही गायब कर दिया गया। जबकि 2015 में कई नये कलाकारों की फिल्में प्रदर्शित हुई थी। ये फिल्में नाॅमिनेशन में भी थी। इसके बावजूद भी इस अवार्ड फंक्शन से ‘न्यू कमर अवार्ड’ की कैटेगरी को हटा कर नये कलाकारों का मनोबल तोड़ने का काम आयोजन मंडल द्वारा किया गया। आयोजन मंडल द्वारा किये गये इस गलती ने अवार्ड समारोह की पारदर्शिता पर ही सवालिया निशान लगा दिया है। जो कि इस अवार्ड की पारदर्शिता पर कई सवाल खड़ा कर रहा है। सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा होता है कि आखिर क्यूं फिल्में नाॅमिनेशन में जाने के बाद भी अवार्ड की कटेगरी से ‘न्यू कमर’ की कटेगरी को निरस्त किया गया? इसमें किसकी चाल थी? कहीं यह अवार्ड फंक्शन पहले से ही फिक्स तो नहीं था? या इस बार न्यू कमर में कोई दिग्गज फ़िल्मी घराने से नहीं था ? या  न्यू कमर की तरफ से किसी प्रकार की आयोजक अथवा ज्यूरी से पैरवी व सेटिंग नहीं की गई। इस अवार्ड समारोह में हुई एक गलती कई सवालों की जननी बन चुकी है। ‘न्यू कमर’ की कटेगरी हटाने के विषय में जब अवार्ड समारोह के फाउंडर प्रेसिडेंट विनोद गुप्ता से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस विषय में मुझे कोई जानकारी नहीं है कि क्यूं इस कटेगरी को हटाया गया है। यह ज्यूरी का फैसला था। विनोद गुप्ता द्वारा दिया गया जवाब भी खुद में एक सवाल को जन्म देता है कि आखिर कैसे अवार्ड के फाउंडर को इस बात की जानकारी नहीं हुई कि अवार्ड की कटेगरी में से ‘न्यू कमर’ की कटेगरी गायब है? अमूमन ‘न्यू कमर’ का अवार्ड फिल्म जगत में आये नये चेहरों की हौसला आफजाई का परिचायक है। लेकिन इस अवार्ड समारोह में इसकी कोई झलक दिखाई नहीं दी।




There are no comments

Add yours